सब्सिडी क्या होती हैं? क्यों दी जाती है?

40 0

हैलो फ्रेण्ड्स हम कई जगह गवर्नमेंट सब्सिडी के बारे मे सुनते हैं । लेकिन इसके बारे मे कुछ खास जानकारी हमे नहीं होती हैं , यह सब्सिडी आखिर हैं क्या इस कारण कई बार इसके बेनीफिट से हम वंचित रह जाते हैं । आज की इस पोस्ट के माध्यम से मैं आपको सब्सिडी से संबन्धित सम्पूर्ण जानकारी दूंगा । दोस्तों यह पोस्ट आपके लिए बहुत उपयोगी साबित हो सकती हैं । तो दोस्तों आइये जानते हैं सब्सिडी क्या होती हैं एवं गवर्नमेंट किन किन क्षेत्रों में सब्सिडीज उपलब्ध करवाती हैं ।

सब्सिडी क्या होती हैं

सब्सिडी एक प्रकार की फाइनेंशियल हैल्प होती है जो गवर्नमेंट द्वारा किसानों , उद्योगों, उपभोक्ताओं को उपलब्ध करवायी जाती है जिसके कारण आवश्यक वस्तुओं  की कीमते डाऊन हो जाती हैं । गवर्नमेंट द्वारा दी जाने वाली सब्सिडी का उद्देश्य फाइनेंशियल बर्डन को कम करना है । सब्सिडी सोशियल , फाइनेंशियल एवं फाइनेंशियल पोलिसीज को बढ़ावा देने के लिए दी जाती है । ज्यादातर सब्सिडीज गवर्नमेंट द्वारा कमजोर उद्योग धंधों को डेवलप करने के लिए प्रोवाइड की जाती है। यदि किसी वस्तु की कीमत अधिक बढ़ जाती है तो  गवर्नमेंट सब्सिडी  प्रोवाइड करके उस वस्तु की कीमत को कम कर देती है । सब्सिडी डायरेक्ट और इन डायरेक्ट तरीके से प्रोवाइड की जाती है । जब सब्सिडी केश प्रोवाइड की जाती है, तो उसे डायरेक्ट सब्सिडी  कहा जाता है ।

वहीं केशलेस प्रोफिट प्रोवाइड करके की गई हैल्प इन डायरेक्ट सब्सिडी होती है  जैसे – टैक्स में छूट, लो इन्टरेस्ट रेट पर लोन प्रोवाइड करना आदि ।

सब्सिडीके प्रकार

  • फूड सब्सिडी

फूड सब्सिडी में गवर्नमेंट गरीबों के लिए कम कीमत पर खाद्यान जैसे चावल, गेहूं, चीनी आदि पब्लिक डिस्ट्रीब्यूटर सिस्टम के द्वारा उपलब्ध करवाती है ।

  • फार्मर सब्सिडी

फार्मर सब्सिडी के अंतर्गत उर्वरक सब्सिडी, कैश सब्सिडी, ब्याज माफ़ी, वाहन और अन्य उपकरण खरीदने के लिए सब्सिडी आदि इन्कल्यूड हैं ।

  • पेट्रोलियम सब्सिडी

पेट्रोलियम सब्सिडी में बीपीएल श्रेणी के लोगों को गवर्नमेंट सस्ती कीमतों पर कैरोसीन उपलब्ध कराती है । रसोई गैस, डीजल एवं पेट्रोल की कीमतों पर भी सब्सिडी उपलब्ध करायी जाती है ।

  • टैक्स सब्सिडी

यह सब्सिडी लार्ज बिजनेस मे अलोट करवाई जाती है ताकि अधिक लागत की अवस्था में प्रोडक्शन बंद ना हों और बेरोजगारी न बढ़े ।

  • रिलीजियस सब्सिडी

 यह सब्सिडी मुस्लिम समुदाय के लोगों को हज एवं हिन्दुओं को अमरनाथ यात्रा के लिए गवर्नमेंट द्वारा प्रोवाइड की जाती है ।

  • इन्टरेस्ट सब्सिडी

इस सब्सिडी के अंतर्गत एज्यूकेशन लोन पर लगने वाले इन्टरेस्ट गवर्नमेंट पे  करती है । किसानों और उद्योगपतियों के इन्टरेस्ट भी गवर्नमेंट द्वारा माफ़ किया जाता है ।

  • प्रोडक्शन सब्सिडी

इस प्रकार की सब्सिडी किसी विशेष प्रोडक्ट के प्रोडक्शन, पर्चेज या सेल्स पर प्रोवाइड की जाती है । यह सब्सिडी इसलिए दी जाती है ताकि उस विशेष प्रोडक्ट  के प्रोडक्शन के लिए लोगों  को मोटिवेट किया जा सके।

  • एम्प्लोयमेंट सब्सिडी

एम्प्लोयमेंट सब्सिडी देश में बेरोजगारी कम करने के मकसद से प्रोवाइड की   जाती है । इस सब्सिडी के माध्यम से ज्यादा से ज्यादा रोजगार उपलब्ध करवाने के लिए उद्योगपतियों  को मोटिवेट किया जाता है ।

सब्सिडी  की केल्कुलेशन

इण्डिया में प्रोवाइड की जाने वाली सब्सिडी लोन अमाउंट , इन्टरेस्ट रेट , टोटल इनवेस्टमेंट , प्रोडक्ट , एवं एक्स्पेंसेज को मिलाकर गवर्नमेंट एक फिक्स फॉर्मूले   के माध्यम से  सब्सिडी अमाउंट तय करती है ।

सब्सिडी के नुकसान

गवर्नमेंट किसी भी प्रकार की सब्सिडी इकोनोमिक हैल्प के उद्देश्य से प्रोवाइड करती है । इसका सारा खर्च देश के लोगों द्वारा भरे गए टैक्स से पूरा किया जाता है । इसके कुछ नुकसान इस प्रकार  हैं –

  • सब्सिडी की राशि जरूरतमंद तक नहीं पहुच पाती है : कई बार ऐसा होता हैं  की गवर्नमेंट द्वारा दी जाने वाली सब्सिडी अमाउंट जरूरतमंद लोगो तक नहीं  पहुँच पाती है।
  • सक्षम व्यक्तियों को भी सब्सिडी का बेनीफिट मिल जाता है : गवर्नमेंट द्वारा दी जाने वाली सब्सिडी सिर्फ गरीब वर्ग को ही प्रोवाइड करनी होती है , जिस परिवार की आर्थिक स्थिति मजबूत है उनको सब्सिडी की आवश्यकता नहीं होती है फिर भी इन लोगों द्वारा इसका फायदा उठाया जाता है ।  
  • सब्सिडी का सही उपयोग हीं होना : भारत सरकार द्वारा कई प्रकार की सब्सिडीज प्रोवाइड की जाती है इनमें से एक सब्सिडी  स्माल एंटरप्राइजेज़ के डेवलपमेंट के लिए प्रोवाइड की जाती है लेकिन इसका सही यूज नहीं हो पाता हैं । उदाहरण के लिए गवर्नमेंट द्वारा प्रोवाइड की जाने वाली सब्सिडी का सिर्फ 80 % ही डेवलपमेंट मे यूज होता हैं , 20 %  सब्सिडी के  एक्सपेनसेज व्यर्थ हो जाता हैं ।

सब्सिडी के फायदे

जहां सब्सिडी के नुकसान हैं, वहीं कमजोर वर्ग को इससे फायदे भी मिलते हैं –

  • गरीब वर्ग को फूड सब्सिडी जो गवर्नमेंट द्वारा प्रोवाइड करवाई जाती है उससे आर्थिक दृष्टि से काफी मदद होती है ।
  • किसानों की हालात भारत ज्यादा अच्छी नहीं हैं । खेती में बहुत अधिक  खर्चा करने के बावजूद उन्हें अच्छा बेनीफिट नहीं मिल पाता है । ऐसे में खाद बीज पर दी जाने वाली सब्सिडी से इसमे होने वाले खर्चे का बोझ काफी हद तक कम हो जाता है ।
  • टैक्स एवं एंप्लोयमेंट सब्सिडी के द्वारा देश में बढ़ रही बेरोजगारी को काफी हद तक कम किया जा रहा है ।

Begin typing your search above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top