स्मार्टकार्ड कैसे काम करते है ?

226 0

दोस्तों जैसा की हमे पता हैं की भारत मे अधिकतर कारी ऑनलाइन या डिजिटल माध्यम से होते हैं । आज बैंकिंग हो , गवरमेंट डोक्यूमेंट बनवाना , शिकायत , समाधान , हेल्प आदि सब ऑनलाइन होते हैं । डिजिटल इंडिया के तहत सभी नागरिकों को सरकारी सुविधाएं आसानी से उपलब्ध कराने के लिए सरकार तकनीकी का यूज कर रही हैं साथ ही कई डिजिटल डिवाइस , कार्ड आदि डेवलप करवा रही हैं । अगर कोई नागरिक इसका लाभ लेना चाहते हैं तो उसके बारे मे पूरी जानकारी एवं उसके प्रयोग का तरीका पता होना चाहिए । आज इसी क्रम मे मे आपको अपनी इस पोस्ट के माध्यम से स्मार्ट कार्ड के बारे मे जानकारी दूंगा । इसमे आप जानेंगे की स्मार्ट कार्ड क्या होता हैं , कितनी प्रकार के होते हैं एवं इसके फायदे क्या हैं और इसे कहाँ कहाँ प्रयोग कर सकते हैं । तो दोस्तों आइये जानते हैं स्मार्ट कार्ड के बारे मे –

स्मार्ट कार्ड क्या हैं ?

स्मार्ट कार्ड एक विशेष प्रकार का कार्ड होता हैं जिसमे आईसी चीप होती हैं । ये चीप एक माइक्रोप्रोसेसर या मेमोरी हो सकती हैं । स्मार्ट कार्ड एक ऐसा कार्ड हैं जिसके द्वारा डेटा स्टोर कर सकते हैं , एक्सचेंज कर सकते हैं और     मेनिपुलेट कर सकते हैं ।  

स्मार्ट कार्ड कैसे काम करता हैं ?

स्मार्ट कार्ड होस्ट कंप्यूटर के माध्यम से कार्ड रीडर के माध्यम से जुड़ता हैं , जो स्मार्ट कार्ड से इन्फोर्मेशन प्राप्त करता हैं ।  

बेसिक स्मार्ट कार्ड का वर्किंग सिस्टम

स्मार्ट कार्ड रीडर

स्मार्ट कार्ड रीडर एक डिवाइस हैं जिससे स्मार्ट कार्ड RF कम्यूनिकेशन के द्वारा डाइरेक्टली या इनडाइरेक्टली जुड़ता हैं । इसका इंटरफेस जो इसे कंप्यूटर से जोड़ता हैं वो यूएसबी पोर्ट या आरएस 232 सीरियल पोर्ट होता हैं । 

स्मार्ट कार्ड के प्रकार

1. कनेक्शन के आधार पर : कनेक्शन के आधार पर स्मार्ट कार्ड 2 प्रकार के होते हैं –

  • कोंटेक्ट स्मार्ट कार्ड

इस प्रकार के कार्ड मे इलेक्ट्रिकल कोन्टेक्ट पाया जाता हैं जो कार्ड रीडर मे कार्ड इन्सर्ट करने पर कनेक्ट करने के लिए यूज होता हैं । ये इलेक्ट्रिकल कोन्टेक्ट कार्ड की सरफेस पर गोल्ड प्लेटेड कंडक्टिव द्वारा डिप्लोय किया जाता हैं ।

  • कोंटेक्टलेस स्मार्ट कार्ड

इस प्रकार के कार्ड को रीडर द्वारा कम्युनिकेट करने के लिए किसी प्रकार के फिजिकल कोंटेक्ट की आवश्यकता नहीं होती हैं । इसमे एक एंटीना होता हैं जो रेडियो फ़्रिक्वेंसी के माध्यम से कम्युनिकेट करता हैं ।

फंक्शन के आधार पर : फंक्शन के आधार पर स्मार्ट कार्ड 2 प्रकार के होते हैं –

  • मैमोरी कार्ड

इस प्रकार के कार्ड मे मैमोरी सर्किट होता हैं । यह सिर्फ डेटा स्टोर कर सकता हैं , रीड कर सकता हैं एवं पर्टिकुलर लोकेशन पर डेटा राइट कर सकता हैं । इसमे डेटा प्रोसेस नहीं हो सकता हैं ।

  • माइक्रोप्रोसेसर आधारित कार्ड

इसमे माइक्रोप्रोसेसर होता हैं जिसमे कई मैमोरी ब्लॉक होते हैं । इसमे फाइलों के सेक्शन भी होते हैं , प्रत्येक फाइल विशेष फंक्शन से जुड़ी होती हैं । फाइलों का डेटा ओपेरेटिंग सिस्टम द्वारा मैनेज किया जाता हैं इसमे डेटा प्रोसेस होता हैं जो मल्टीफंक्शन के लिए यूज किया जाता हैं ।

जानिए स्मार्टकार्ड के फायदे

  • स्मार्ट कार्ड को तुरंत रिकोन्फ़िगर किया जा सकता है ।
  • यह कार्ड रियूजेबल होता हैं यानि इसमे रिकॉर्ड आसानी से हटा सकते हैं और वापस फीड कर सकते हैं ।
  • इससे सिक्योर ट्रान्जेक्शन किए जा सकते हैं । इस कार्ड मे मौजूद इन्फोर्मेशन सिर्फ कार्ड रीडर द्वारा ही रीड की जा सकती हैं अतः इसके द्वारा जो भी ट्रांजेक्शन किए जाते हैं सुरक्षित होते हैं ।
  • डेटा को सुरक्शित रखने के लिए इसमे और अधिक सिक्योरिटी फीचर्स को प्रयोग किया गया हैं ।
  • इसमे डेटा प्रोसेसिंग एवं रीड राइट प्रोसेस अधिक कॉम्प्लेक्स होने के कारण एक नॉर्मल यूजर इसकी इन्फोर्मेशन को यूज नहीं कर सकता हैं । अतः ते कार्ड पूरी तरह से ट्रस्टेड हैं ।
· एक कार्ड में सेव करने के लिए कई प्रोविजन्स की अनुमति देंता हैं जो इस कार्ड को मल्टी फंक्शन वाला बनाता हैं । 

स्मार्ट कार्ड कहाँ कहाँ प्रयोग कर सकते हैं ?

·  टेली कम्युनिकेशन : स्मार्ट कार्ड तकनीक का सबसे प्रमुख उपयोग सिम कार्ड या सब्सक्राइबर आइडेंटिटी मॉड्यूल के विकास में है। एक सिम कार्ड प्रत्येक ग्राहक को विशिष्ट पहचान प्रदान करता है और प्रत्येक ग्राहक को नेटवर्क एक्सस प्रदान करता है और इसके ओथेंटिकेशन मैनेज करता है।
· घरेलू : घरेलू क्षेत्र में सबसे अधिक इस्तेमाल किया जाने वाला स्मार्ट कार्ड डीटीएच स्मार्ट कार्ड है। यह कार्ड सेटेलाइट से आने वाली सूचना तक ओथोराइज्ड एक्सस प्रोवाइड करता है। साधारण शब्दों में कार्ड जिसके साथ हम डायरेक्ट टू होम टीवी सेवाओं तक पहुंच प्राप्त कर सकते हैं वह एक स्मार्ट कार्ड के अलावा और कुछ नहीं है। जानकारी को स्मार्ट कार्ड के भीतर एन्क्रिप्ट और डिक्रिप्ट किया गया है।
·  ई-कॉमर्स और रिटेल: स्मार्ट कार्ड का उपयोग किसी व्यक्ति के खाते के विवरण, लेनदेन के विवरण जैसी जानकारी संग्रहीत करने के लिए किया जा सकता है और क्रेडिट कार्ड के रूप में कार्य करके ऑनलाइन सामान खरीदने में उपयोग किया जा सकता है। कुछ रिटेलर स्मार्ट कार्ड का उपयोग किसी विशेष ग्राहक के लिए पॉइंट स्टोर करने और बार-बार ग्राहकों को आवश्यक प्रोत्साहन प्रदान करने के लिए भी कर सकते हैं।
· बैंकिंग एप्लिकेशन: बैंकिंग एप्लिकेशन में स्मार्ट कार्ड का सबसे प्रमुख उपयोग ट्रेडिशनल मैग्नेटिक स्ट्रिप आधारित क्रेडिट या डेबिट कार्ड का रिप्लेस्मेंट है। एक उदाहरण मास्टरकार्ड और वीज़ा है।
· सरकारी एप्लिकेशन : स्मार्ट कार्ड का उपयोग सरकार द्वारा व्यक्ति को पहचान पत्र जारी करने के लिए किया जा रहा है,जिसमें व्यक्ति के सभी विवरण शामिल हैं। एक उदाहरण भारत में हाल ही में शुरू की गई आधार कार्ड स्कीम है ।

 

Begin typing your search above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top