मेडिटेशन कैसे करें ?

671 0

मेडिटेशन के माध्यम से व्यक्ति अपने  टार्गेट पर फोकस करके लक्ष्य प्राप्त कर सकते है | मेडिटेशन का मुख्य उद्देश्य मनुष्य मे करुणा, प्रेम, धैर्य, उदारता, क्षमा, आदि भाव बनाए रखना है | ध्यान की मुद्रा मे रहते हुये किसी और चीज का अनुभव नहीं होता, तो यह सही  मेडिटेशन की स्थिति है |

मेडिटेशन  का मतलब एक समय के लिए अपनी सोचने की शक्ति को रेस्ट देना  है । मेडिटेशन  के समय व्यक्ति सभी विचारो से मुक्त हो जाता है तथा उसका ध्यान केवल एक और केन्द्रित होता है.

मैडिटेशन के फायदे –

  1. मेडिटेशन से एकाग्रता बढ़ती है।
  2. भागदौड़ व्यस्त दिनचर्या के कारण मन अशांत और तनावग्रस्त  रहता है । मन को शांत एवं तनावमुक्त रखने के लिए मैडिटेशन बहुत ज़रुरी है।
  3. मेडिटेशन से नींद ना आने की समस्या दूर होती है और अच्छी  नींद आती है।
  4. मैडिटेशन करने से नशे की लत समाप्त हो जाती है जैसे – शराब, सिगरेट, अफीम , चरस , गाँजा आदि चीजों से छुटकारा मिलता है।
  5. मनुष्य को खुश रहने और स्वस्थ रहने में मेडिटेशन का सबसे बड़ा योगदान होता है।
  6. नियमित मैडिटेशन करने से जीवन में एक नया अनुभव मिलता  हैं ।

मैडिटेशन करने के लिए निम्न बाते ध्यान रख सकते हैं –  

  1. मेडिटेशन के लिए उचित स्थान का चयन करें । इसके लिए साफ सुथरा, खुला स्थान हो साथ ही यहाँ एकांत और शांति हो ताकि बार बार ध्यान भटक ना पाये ।
  2. मेडिटेशन के समय उचित ध्यान मुद्रा हो । मेडिटेशन का कोई विशेष नियम नहीं है ये खड़े खड़े , बैठकर या लेटकर भी कर सकते हैं ।  इसके लिए केवल उचित स्थिति होनी जरूरी हैं । अगर खड़े खड़े मेडिटेशन करते हैं तो इसके लिए सीधे खड़े होकर दोनों हाथ जोड़कर ध्यान करें । बैठे बैठे ध्यान करने के लिए जिस भी मुद्रा मे आसान ले सके लेकर ध्यान कर सकते हैं । लेटे लेटे मेडिटेशन करने की लिए एक तरफ करवट लेकर एक हाथ सीधा नीचे तक रखे और दूसरा हाथ सिर के नीचे हो ।
  3. मेडिटेशन करते समय माइंड को पूरी तरह से रिलेक्स करे यानि उस वक्त किसी भी प्रकार का ख्याल दिमाग मे नहीं आना चाहिए और ना ही किसी भी प्रकार से ध्यान मे बाधा उत्पन्न हो इसका विशेष ख्याल रखे ।
  4. किसी भी समय हम ध्यान कर सकते हैं इसके लिए सभी समय उचित हैं लेकिन सुबह सूर्योदय से पहले और रात मे सोने से पहले जब सभी सो जाये तो अपने टीवी , मोबाइल आदि बंद करके मेडिटेशन कर सकते हैं ।

मेडिटेशन के प्रकार

1 ॐ मेडिटेशन – इससे एकाग्रता बढ़ती हैं साथ ही समस्त इंद्रियों पर नियंत्रण रहता हैं ।

2. सहज योग – इसको करने से पूरा शरीर रिलेक्स होता हैं और शारीरिक एवं मानसिक थकान दूर हो जाती हैं ।

3. माइण्ड्फ़ुल मेडिटेशन – इसमे दिमाग शांत करके गहरी साँसे भरकर छोड़ते हैं । इससे साँसो पर कंट्रोल कर सकते हैं ।

4. त्रटक मेडिटेशन – इसमे किसी प्रकाश स्त्रोत को केन्द्रित करना होता हैं । ये एकाग्रता बढ़ाने के लिए किया जाता हैं ।

Begin typing your search above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top