लडकियों के आत्मरक्षा के नियम

4190 0

आत्मरक्षा का मतलब खुद की रक्षा करना है। महिलाएँ भी आत्मरक्षा के अधिकार का प्रयोग कर सकती है और खुद को बचा सकती है। महिलाएं अपनी आत्मरक्षा में वार कर सकती है।
महिलाओं को सुरक्षा के नए तरीके सीखने चाहिए और आत्मरक्षा करनी सिखानी चाहिए। और उसका प्रयोग करना आना चाहिए जिस दिन सब महिलाएं आत्मरक्षा करना सीख जाऐंगी उस दिन बिना किसी डर के घूम पाऐंगी। महिलाओं तथा लडकियों को विपरीत परिस्थतियों में इस अधिकार का उपयोग करना चाहिए अतः ये आवश्यक हैं कि महिलाएं स्वयं आत्म-रक्षा तकनीक को सीखने के महत्व समझे। यह सही समय है जहाँ प्रत्येक महिला को जागरूक और अपने आसपास के परिवेश से पूरी तरह से अवगत होने की जरूरत है महिलाओं को विपरीत परिस्थितियों में अपनाई जाने वाली विभिन्न रणनीतियों के बारे में पूरी जानकारी होनी चाहिए।

आत्मरक्षा करने के तरीके

मोबाइल फोन
मोबाइल फोन की बेटरी बहार निकलते समय फुल चार्ज करे, बैलेंस चेक करे और डायल नंबर पर पुलिस और महिला प्रोटेक्शन नंबर को डायल करके रखे ताकि इमरजेंसी में नंबर शीघ्र डायल कर सके।

इन्टरनेट और व्हाट्सअप
व्हाट्सअप और फेसबुक की सहायता से अपने दोस्तों से संपर्क कर अपनी मदद कर सकते हैं

परफ्यूम स्प्रे
परफ्यूम, हिट या कोई स्प्रे बचाव के लिए सबसे उपयोगी चीज हैं |स्प्रे को हमेशा आँखों और मुंह पर उपयोग कर सामने वाले हमलावर को अचेत किया जा सकता है |

कांच की बोतल
कांच की बोतल सेल्फ डिफेन्स के लिए बहुत उपयोगी टूल हैं, अगर संभव हो तो इसे सदैव साथ रखे |

आर्टिफीशिअल नेल्स
फैशन के साथ सुरक्षा यह एक बहुत ही अच्छा साधन हैं यह नेल देखने मैं नार्मल लगते हैं मगर यह स्टील के बने होते हैं इसकी सहायता से आप किसी की फेस आंख और चेहरे पैर वार कर सकती हैं।

छुपने की कोशिश करे
ज्यादा दूर तक भागने की कोशिश ना करके कोई सुरक्षित जगह देखकर वहां चुप जाये और किसी और के आने का इंतजार करे अगर कोई देखे तो शोर मचाये।

लाल मिर्च पाउडर
लाल मिर्च पाउडर हमारी रक्षा भी कर सकती हैं लडकियो को हमेशा लाल मिर्च का पाउडर अपने पर्स यह पॉकेट मैं रखना चहिये ।

पेन
पेन का वार गले मैं हाथ मैं यह जांघ मैं कर सकते हैं यह बहुत हे उपयोगी चीज हैं।

दांत
आपातकालीन स्थिति में हम अपने दांतों को अपना हथियार बनाकर काम में ले सकते है

पंच (मुक्का)
हमलावर पर पूरी ताकत से एक पंच मार दे | याद रखे कि हमारे माथे के किनारे और कान के ऊपर वाली नस बहुत ही कमजोर होता हैं | यहाँ पर चोट करने से इंसान 2 मि0 में मूर्छित हो जाता हैं| इन सब चीजों को ध्यान मैं रखे और सुरक्षित रहे ध्यान रहे हमें अपनी सुरक्षा खुद करने पडती हैं।

कुछ और संभावित उपाय जो महिलाओं के लिए खतरे से बचने लिए ज़रूरी है –
– अकेले यात्रा करते समय टैक्सी का नम्बर नोट करें।
– आत्मरक्षा नई तकनीकों को सीखें।
– कराटे, किक, बॉक्सिंग और लाठी का उपयोग आदि से लड़ने को प्रशिक्षण के लिए चुनें ।
– भारत में कई ऐसी संस्थाएं जो बचाव करना सीखाती है,महिलाओं को आत्मरक्षा करने के लिए जागरूक करती हैं। इनमें से ज्यादातर संस्थाएं कार्यशालाओं, सड़क समारोहों और सड़कों पर होने वाली हिंसा के बारे में लोगों की जागरूकता बढ़ाती हैं।

Begin typing your search above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top