क्यू आर कोड कैसे काम करता है ?

711 0

क्यू आर कोड एक मशीन द्वारा रीड किया जाने वाला ऑप्टिकल बार कोड होता  हैं । जिसमें किसी स्पेशल आईटम से संबधित इन्फोर्मेशन होती हैं ।यह इन्फोर्मेशन हाइपर टेक्स्ट फॉर्मेट  में हो सकती हैं। जिसे बार कोड रीडर द्वारा पढा जाता हैं।  

क्यू आर कोड का पूरा नाम क्विक रेस्पोंस कोड हैं। यह बारकोड से फास्ट रीडेबल एवं अधिक मेमोरी केपिसिटी वाला होता हैं। इसी कारण यह अधिक पोपुलर और अधिक इस्तेमाल किया जाता हैं।  

इस कोड में लोकेटर ,आइडेंटिफ़ायर और ट्रैकर संबन्धित डेटा होता हैं।  जो किसी  वेबसाइट  या मोबाईल एप्लिकेशन को ओपन करता हैं। क्यू आर कोड में इन्फोर्मेशन को नम्बर्स , एल्फान्यूमेरिक , बाइट / बाइनरी  केरेक्टर्स के रूप मे इंकल्यूड किया जाता हैं।

क्यू आर कोड की डिजाइन  

क्यू आर कोड की डिजाइन स्क्वायर बॉक्स जैसी होती हैं। जिसमे व्हाइट बैकग्राउंड  पर ब्लेक  बॉक्स बने होते हैं। जिन्हे किसी (कैमरा, स्मार्टफोन) के द्वारा रीड किया जाता हैं। क्यू आर कोड रीड करने के लिए रीड सोलोमन कोड यूज किया जाताहैं। रीड सोलोमन कोड ईमेज को तब तक स्कैन करता रहेगा जब तक एडजेक्ट डेटा तक नहीं पहूँच जाए। ज्यादातर क्यु आर कोड ब्लैक एंड व्हाईट होते हैं। लेकिन यह कलर मे भी जेनेरेट किये जाते हैं।  और अपनी आवश्यकतानुसार इन्हे कस्टमाईज भी किया जा सकता हैं ।  

क्यू आर कोड के प्रकार

क्यू आर कोड स्ट्रक्चर , यूज एवं उद्देश्य के आधार पर  दो प्रकार के होते हैं –  

  1. स्टैटिक क्यू आर कोड
  2. डायनेमिक क्यू आर कोड
  3. स्टैटिक क्यू आर कोड

इस कोड का यूज पब्लिक इन्फोर्मेशन शॉ करने के लिए किया जाता हैं। इस क्यू आर कोड को पोस्टर्स, टीवी एड , न्यूज पेपर , मैगजीन आदि में पब्लिश किया जाता हैं। इस कोड से लिमिटेड इन्फोर्मेशन प्राप्त कर सकते हैं।  

  1. क्यू आर कोड कितनी बार स्कैन किया गया ।  
  2. जिस डिवाईस से स्कैन हुआ है उसका ओएस ।  
  3. डायनेमिक क्यू आर कोड

डाइनेमिक क्यू आर कोड लाइव कोड होते हैं। जिन्हे समय-समय पर एडिट किया जाता हैं। इसे यूनिक क्यू आर कोड भी कहते हैं।  इस कोड द्वारा कई प्रकार की इन्फोर्मेशन ट्रैक कर सकते   हैं –   

  1. स्कैन करने वाले का नाम
  2. ईमेल आईडी
  3. कितनी बार स्कैन किया
  4. कोड में शामिल जानकारी तक पहुँच
  5. कन्वरसेशन रेट  

क्यू आर कोड की विशेषताएं

  1. क्यू आर कोड मोबाईल फोन से भी स्कैन किया जा सकता हैं।  इसके लिए बार कोड रीडर की आवश्यकता नहीं होती हैं।  
  2. यह बार कोड Versatile होता हैं। इससे सभी प्रकार के बाइनरी , एल्फाबेटिक एवं न्यूमेरिक डेटा को एनकोड कर सकते हैं।  
  3. क्यू आर कोड फास्ट स्कैन होता हैं।  
  4. क्यु आर कोड में ज्यादा डेटा स्टोर किया जा सकता हैं।   

क्यू आर कोड के उपयोग

क्यू आर कोड बिजनेस के लिए डेवलप किया गया हैं । मार्केटिंग, एडवरटाइज़ , एजुकेशन , बिजनेस, टेक्नोलोजी आदि सेक्टर्स में इसका यूज किया जाता हैं।

  1. क्यू आर कोड का यूज किसी ब्रांड के एड के लिए किया जाता है। वर्तमान में यूजर्स  किसी ब्रांड की वेबसाइट ब्राउज़र करने के बजाय क्यू आर कोड स्कैन कर फास्ट ओपन कर सकते हैं।  
  2. क्यू आर कोड में वेब एड्रेस इंकल्यूड होता है, इस कारण क्यू आर कोड बस, मैगज़ीन, बिज़नेस कार्ड पर मिल जाता है।  जिससे यूज़र उस क्यू आर कोडको स्कैन कर किसी विषय पर जानकरी प्राप्त कर सकते हैं।  
  3. क्यू आर कोड का यूज करेंसी के लिये भी किया जाता है।  सिक्के  को स्मार्टफोन से स्कैन करने पर लिंक्ड वेबसाईट से उस सिक्के की हिस्ट्री एवं अन्य इन्फोर्मेशन प्राप्त की जा सकती हैं।  
  4. क्यू आर कोड में बैंक अकाउंट जानकारी, क्रेडिट कार्ड आदि की इन्फोर्मेशन इंकल्यूड की जा सकती है।  क्यू आर कोड का यूज कर पेमेंट किया जा सकता है।  BHIM UPI तथा  यूपीआई एवं प्रीपैड वॉलेट इसके एक्जाम्पल हैं।  
  5. अपने V-Card (बिजनेस कार्ड, विजिटिंग कार्ड) के पीछे अपने पूरे पते या फिर ऑनलाईन बायोडाटा पेज का पता छाप सकते हैं।  

Begin typing your search above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top