क्रेडिट कार्ड क्या है ? कैसे यूज करें?

787 0

क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड की तरह होता हैं लेकिन इसमें एक क्रेडिट लिमिट (पैसा निकालने की सुविधा) होती है । इस लिमिट का अकाउंट बैलेंस से कोई सम्बन्ध नहीं होता हैं । इसमे उस लिमिट तक क्रेडिट कार्ड से खर्च कर सकते हैं और तय समय के बाद क्रेडिट कार्ड बिल का पेमेंट करना होता है । सामान्यतः क्रेडिट कार्ड बिल (स्टेटमेंट) की तारीख से 21 दिन के भीतर पेमेंट करना होता है ।  समय पर पेमेंट करने पर कोई इन्टरेस्ट नहीं देना होता , परन्तु पेमेंट नहीं करने पर ब्याज और साथ ही पेनल्टी चार्ज होती हैं । क्रेडिट कार्ड की इन्टरेस्ट रेट एवं  पेनल्टी बहुत ज्यादा होती  है । क्रेडिट कार्ड की लिमिट होती हैं ।

क्रेडिट कार्ड के फायदे

  1. क्रेडिट कार्ड का यूज कर के खर्च कर सकते हैं, बाद में पेमेंट कर सकते हैं|
  2. इमरजेंसी में क्रेडिट कार्ड काफी यूजफूल है|
  3. क्रेडिट कार्ड से पेमेंट करने से डिस्काउंट या केशबेक  भी मिलता है|
  4. क्रेडिट कार्ड पर रिवॉर्ड पॉइंट भी मिलते हैं| इन रिवॉर्ड पॉइंट का इस्तेमाल कुछ खरीदने या क्रेडिट कार्ड बिल के भुगतान के लिए भी कर सकते हैं|

क्रेडिट कार्ड के नुकसान

  1. क्रेडिट कार्ड के बिल का समय से भुगतान न करने पर काफी अधिक ब्याज देना पड़ता है । पेनल्टी भी लगती है ।
  2. क्योंकि क्रेडिट कार्ड पर खर्चा करने पर पैसा आपके बैंक खाते से नहीं कटता अतः लोग क्षमता से अधिक खर्च करने लगते हैं|
  3. व्यक्ति क्षमता से अधिक खर्च एवं बिल का पेमेंट समय पर नही  करने से उधार के दलदल में धँसता जाता है|

क्रेडिट कार्ड के फ्रॉड से कैसे बचे 

क्रेडिट कार्ड को सुरक्षित तरीके से प्रयोग करने ( फ्रॉड से बचने ) के लिए निम्न बातों का ध्यान रखे –

  1. खराब मशीन से दूर रहें । इनमे कार्ड के डेटा चोरी की आशंका यहां ज्यादा होती है ।
  2. अगर मशीन टूटी, खुली या क्षतिग्रस्त लग रही हो तो इसका इस्तेमाल ना करे ।
  3. पिन नंबर डालते समय यह सुनिश्चित करें कि न तो कोई व्यक्ति आपको देख रहा हो और न ही कोई कैमरा वगैरह आसपास तो नहीं हैं ।
  4. क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल स्वयं करें । अनजान व्यक्ति की मदद नहीं लें ।

ऑनलाइन सावधानी

  1. सुरक्षित साईट यूज करें – ई शॉपिंग के लिए हमेशा ट्रस्टेड साइट्स ही प्रयोग करें । किसी भी साइट पर अपनी कार्ड डीटेल्स सेव ना   करें ।
  2. एंटी वायरस सॉफ्टवेयर – कम्प्यूटर या स्मार्टफोन में एंटीवायरस का प्रयोग करें । इससे सिक्योर ट्रांजेक्शन कर सकते हैं ।
  3. लॉग आउट करें – डेटा सिक्योरिटी के लिए लॉग आउट करना जरूरी है | स्मार्टफोन में पासवर्ड सेव करने से बचें क्योंकि मोबाइल चोरी होने पर आपका डेटा भी गलत हाथों में जा सकता है ।
  4. पासवर्ड बदलें – डेटा चोरी होने से बचाने के लिए जरूरी है कि एक निश्चित अंतराल के बाद पासवर्ड बदलते रहें ।
  5. वर्चुअल कार्ड – अगर ज्यादा शॉपिंग नहीं करते तो इसका यूज कर सकते हैं । यह एक डेबिट कार्ड की तरह होता है, जिसमें खर्च की सीमा तय होती है ।
  6. सीवीवी हाइड करें – जब आप सीवीवी नंबर डालें तो इसे सुरक्षित रखने का प्रयास करें ।
  7. पब्लिक वाई फाई – ऑनलाइन ट्रांजेक्शन के लिए पब्लिक वाई फाई का प्रयोग ना करें । यहां डीटेल्स चोरी होने की आशंका अधिक है ।
  8. एलर्ट के लिए रजिस्ट्रेशन –  हर के ट्रांजेक्शन के लिए एलर्ट सेवा  लें । एटीएम या ऑनलाइन ट्रांजेक्शन के मामले में बैंक तुरंत एसएमएस भेजते हैं।
  9. स्टेटमेंट चेक करें– बैंक या क्रेडिट कार्ड के स्टेटमेंट हर बार चेक करें जिससे सस्पेक्टेड ट्रांजेक्शन के बारे में बैंक को तुरंत सूचित कर  सकें ।

Begin typing your search above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top