गूगल डूडल क्या हैं ? कैसे पैसे कमाये?

871 0

जब आप फ्री समय मे कोई पिक्चर ड्रॉ करते हैं उन्हें डूडल कहते है। एक्जाम्पल के लिए रफ कॉपियों के पीछे प्रिंट पेंटिंग को देख सकते हैं । जो अनजाने मे आपने  खाली समय में बनाई है। इन्ही उल्टी-सीधी शेप्स को डूडल कहा जाता है। हालांकि इस प्रकार की ड्रॉइंग देखने में इतनी अच्छी नहीं होती लेकिन इस तरह की ड्रॉइंग  से आपका समय अवश्य व्यतीत हो जाता है। डूडल इसलिए फेमस हुआ है क्योंकि प्रत्येक स्पेशल अकेजन्स पर सर्च इंजन गूगल अपना ओफिशियल लोगो हटाकर एक डूडल बनाता है जिसे वह अपने होम पेज पर लगाता है। गूगल डूडल्स को बहुत अधिक इंपोर्टेन्स देता है और किसी भी स्पेशल डे को इंडिकेट करने के लिए डूडल्स का यूज करता है जैसे कि स्वतंत्रता दिवस,  गणतंत्र दिवस पर आप गूगल के होम पेज पर डूडल देख सकते हैं। इसके अलावा इन्टरनेशनल लेवल पर होने वाले गेम्स मैच या किसी पोपुलर पर्सन के बर्थ डे इत्यादि को इंडिकेट करने के लिए भी गूगल उनसे संबन्धित डूडल बनाता है।

गूगल हर साल ‘ डूडल फॉर गूगल ‘ कम्पिटिशन भी आयोजित करवाता है । इस कम्पिटिशन में पहली से दसवीं कक्षा  तक के स्टूडेंट्स पार्टिसिपेट कर सकते हैं ।  इसमें स्टूडेंट्स को  गूगल डूडल  बनाने होते है । इससे गूगल इंडिया के होमपेज पर अपना डूडल शॉ करने का चान्स प्राप्त कर सकते हैं। स्टूडेंट्स इससे  स्कॉलरशिप और स्कूलों के लिए टेक्नॉलॉजी पैकेज भी प्राइज़ मे मिलता हैं ।

डूडल बनाने के पीछे उद्देश्य गूगल पर सर्च करने वाले यूजर्स डूडल्स देखकर खुश हो सकें । गूगल इण्डिया में हर साल यह कम्पिटिशन आयोजित करवाता हैं ।  पैरेंट्स , टीचर्स और ओर्गेनाइजेशन्स पहली से दसवीं क्लास के स्टूडेंट्स की तरफ़ से उनके आर्टवर्क भेज सकते हैं। यदि स्टूडेंट्स की तरफ़ से टीचर्स डूडल भेजते हैं, तो  एप्लिकेशन फॉर्म पर प्रत्येक स्टूडेंट के पैरेंट्स के साईन होने आवश्यक हैं। टीचर्स  एक बार में कई डूडल भेज सकते हैं, लेकिन प्रत्येक स्टूडेंट का सिर्फ़ एक डूडल होना चाहिए । चाहे किसी भी प्रकार से एप्लाय करे , 2,00,000 रुपये का टेक्नोलॉजी अवार्ड , विनर्स के स्कूल को दिया  जाता हैं ।  स्टूडेंट्स किसी भी माध्यम से  डूडल बना सकते हैं। यदि स्टूडेंट्स 3D  डूडल बनाते हैं, तो उसकी फ़ोटो लेकर उस फ़ोटो के साथ एप्लाय कर सकते हैं। पेंट, पेंसिल, क्रेयॉन, मार्कर, चॉक, पेस्टल, चारकोल, क्रे-पास से 2D या 3D बना सकते हैं ।  कंप्यूटर से प्रिंट की गई इमेज भी सबमिट कर सकते हैं । स्टूडेंट्स , एप्लिकेशन फ़ॉर्म में दी गई लोगो की आउटलाइन को ट्रेस कर सकते हैं या इसे नए रूप से बना सकते हैं। स्टूडेंट्स  अपने हिसाब से अपने डूडल बना सकते हैं , लेकिन उसमें G-o-o-g-l-e के अक्षरों का होना ज़रूरी है।

डूडल कैसे सबमिट करें ?

स्टूडेंट्स किसी भी चीज़ से डूडल बना सकते हैं ।  डूडल, एप्लिकेशन फ़ॉर्म का यूज करके सबमिट कर सकते हैं । पेरेंट्स और टीचर्स फिल किया हुआ फ़ॉर्म, डूडल के साथ कूरियर कर सकते हैं।  इसके अलावा  .png या .jpg फ़ॉर्मैट में ऑनलाइन भी सबमिट कर सकते हैं।  फॉर्म फ़िल एवं करने से संबन्धित कुछ जानकारी यहाँ दी गई है –

  1. एप्लिकेशन फ़ॉर्म डाउनलोड करें और प्रिंट करके डूडल स्टार्ट करें
  2. एप्लिकेशन फ़ॉर्म पर डूडल:  स्टूडेंट्स , प्रिंट किए गए आवेदन फ़ॉर्म पर    G-o-o-g-l-e अक्षरों पर किसी भी तरह के रंगों से डूडल बना सकते हैं।  
  3. आवेदन फ़ॉर्म पर विवरण :
    1. डूडल का विवरण – आपने क्या बनाया है , इससे कौन से ऐसे विचार के बारे में पता चलता है ?
    1. बाकी आवश्यक इन्फोर्मेशन फिल करें और फ़ॉर्म पर साइन करें।  
  4. भरा हुआ आवेदन फ़ॉर्म सबमिट करें:
    1. अपना डूडल ऑनलाइन सबमिट करें और कंपीटीशन में पार्टीसिपेट करें ।  
    1. डूडल को .jpg या .png फ़ॉर्मैट में अपलोड कर सकते हैं  या कूरियर कर सकते हैं ।

आवेदन खारिज होने की वजहें

  • ऐसे डूडल जो किसी ने स्वयं ने नहीं बनाए हैं।  साथ ही,  कॉपीराइट और ट्रेडमार्क वाली इमेज और लोगो यूज किए गए हैं उन्हें कंपीटीशन में शामिल नहीं किया जाता हैं ।
  • प्रत्येक स्टूडेंट एक ही एप्लीकेशन सेंड कर सकता है।  

Begin typing your search above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top