महिलाओं की सुरक्षा के लिए ऐप्स और गैजेट्स

452 0

आज कल भागदौड़ भरी जिंदगी मे एवं सड़कों पर सुरक्षित माहौल बिलकुल नहीं  हैं । हमेशा किसी न किसी अनहोनी का डर हमेशा रहता है । खासतौर पर महिलाएँ हमेशा से ही स्वयं को असुरक्षित महसूस करती आ रही हैं । ऐसिड अटैक , गैंग रेप , स्नेचिंग , किडनैपिंग जैसी घटनाएँ महिलाओं के साथ आए दिन होती रहती हैं ।   लेकिन आज टेक्निकल एज हैं । जब महिलाओं की सुरक्षा की बात आती हैं तो महिलाएँ अपनी सुरक्षा स्वयं कर सकती हैं । मार्केट में ऐसे कई ऐप्स और गैजेट्स मौजूद हैं , जो महिलाओं की सिक्योरिटी स्ट्रॉंग बनाने में बहुत हैल्पफुल साबित हो सकते हैं । डैली रूटीन के वर्क से लेकर सिक्योरिटी तक , हर क्षेत्र में टेक्नोलॉजी का आज यूज किया जा रहा है । ज़्यादातर पहने जाने वाले गैजेट स्पेशली यूजफुल  साबित होते हैं । कुछ गैजेट्स तो महिलाओं की ज्वेलरी से मैच होते हैं। आइये जानते हैं ऐसे कुछ गैजेट्स एवं एप्प्स के बारे मे जिनका प्रयोग कर महिलाएँ अपनी सुरक्षा स्वयं कर सकती हैं –

  1. सिक्योरिटी गैजेट्स
  2. सेफलेट

 सेफलेट को ब्रेसलेट की तरह डिजाइन किया गया है । लेकिन यह कोई साधारण ब्रेसलेट नहीं हैं , इस ब्रेसलेट में दो बटन होते हैं , जिनका यूज पैरेंटल नेटवर्क से कोंटेक्ट करने के लिए होता है । खतरे की स्थिति में अलर्ट देखने वाले फ्रेण्ड्स  या फेमेली मेम्बर्स इसके ऐप से इमरजेंसी नम्बर्स पर कोंटेक्ट कर सकते हैं। इसमें रिकॉर्ड होने वाली ऑडियो रिकॉर्डिंग डायरेक्ट यूजर्स के मोबाइल से लिंक होती है।

  • सायरन

सायरन का यूज एक छोटी सी रिंग में छुपाकर भी कर सकते है। इसका साउण्ड  110 डेसीबल से भी ज्यादा होता है , जिसे 50 फीट डिस्टेन्स से भी सुन सकते है। इसका यूज करने के लिए यूजर्स को रिंग का टॉप 60 डिग्री लेफ्ट सईद मे टर्न करना है जिससे एक सेकंड में वहां से एक जोर की आवाज आएगी। यह सायरन इतना तेज होगा कि अटेकर ईजीली कनफ्यूज हो सकता है ।

  • एथेना

महिलाओं की सिक्योरिटी के लिए एथेना गैजेट बनाया गया है। इसकी साइज  सिक्के जितनी होती है। यूजर द्वारा स्वीच प्रेस करने पर इससे तेज अलार्म बजाता है। इसके बाद यूजर की लोकेशन के साथ यह डिवाइस उसके कॉन्टैक्ट को एक अलर्ट सेंड करता है, जो उनकी हैल्प कर सकते हैं। इस डिवाइस को पर्स के साथ एड किया जा सकता है या नेकलेस की तरह भी यूज किया जा सकता है। यूजर्स इसे साइलेंट मोड में भी सेट कर सकते हैं, ताकि बिना किसी साउण्ड के भी कॉन्टैक्ट्स को इन्फोर्मेशन सेण्ड कर सके।

  • स्टिलेटो चार्म्स

पर्सनल सिक्योरिटी को ध्यान में रखते हुए स्टिलेटो चार्म्स एक लैटेस्ट ओर्नामेंट्स  की कॉपी कर इसे डेवलप किया गया हैं। यह दिखने में बिलकुल एक ओर्नामेंट की तरह लगता हैं, लेकिन सीक्रेट्ली यह डिवाइस कई प्रकार के फंक्शन परफ़ोर्म करता  हैं । स्टिलेटो मोबाइल ऐप का यूज करते हुए यूजर एक इमरजेंसी प्रोफाइल क्रिएट कर सकते हैं। इमरजेंसी कोंटेक्ट कर सकते हैं।

  • सिक्योरिटी एप्प्स

आजकल महिलाओं और बच्चों की सिक्योरिटी को ध्यान में रखते हुए कई ऐप्स बनाए गए हैं, जो प्ले स्टोर पर मौजूद हैं। इनमें जीपीएस ट्रैकिंग, इमर्जेंसी कॉन्टैक्ट नंबर और सेफ लोकेशन जैसे फीचर्स भी अवेलेबल हैं। इनमें सिक्योर और अन्सिक्योर पेलेस को इंडिकेट करने के ऑप्शन भी इसमे होते हैं। इनमें से कुछ ऐप्स डाइरेक्ट पुलिस कंट्रोल रूम से जुड़े होते हैं, ताकि पुलिस से ऑडियो या वीडियो के द्वारा डायरेक्ट कोन्टेक्ट कर सकते हैं । ये ऐप्स इस प्रकार हैं –

  • वुमन सेफ्टी (Women safety)
  •  स्मार्ट 24X27 (Smart 24X27)
  •  सेफ्टीपिन (Safety pin)
  • रक्षा–वुमन सेफ्टी अलर्ट (Raksha:Women Safety Alert)
  •  विदयूऐप (VithU App)
  •  निर्भया: बी फियरलेस ऐप (Nirbhaya: Be Fearless App)
  •  आई एम शक्ति ऐप (I’m shakti app)

स्मार्टक्लाउड इंफोटेक ने एक फ्री एंड्रॉइड ऐप डिजाइन किया था । ऐप इंस्टॉल करने के बाद सिर्फ फोन को शेक करने पर ही , इमरजेंसी मैसेज कॉन्टेक्ट्स को भेज दिया जाता हैं । साथ ही यह लोकेशन भी बता देता हैं ।

Begin typing your search above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top