Digi-Locker क्या है ? इसे कैसे यूज करे ?

544 0

इंटरनेट का प्रयोग के साथ ही सरकार ने भी सबकुछ डिजिटल करने का लक्ष्य ले लिया है जिसमे हर चीज़ चाहे वो कोई गवरमेंट स्कीम हो या  बैंक का पेमेंट सबको डिजिटल बना रहे है। इसी के तहत गवरमेंट ने एक डीजीलोकर  एप्प लॉन्च  किया है जिसका उपयोग डोक्यूमेंट को ऑनलाइन स्टोर करने के लिए कर सकते है।

डीजीलोकर क्या है ?

डीजीलोकर डिजिटल इंडिया स्कीम के तहत एक शुरुआत है। डीजीलोकर के तहत हम सारे डॉक्यूमेंटस की सॉफ्ट कॉपी ऑनलाइन एक वेबसाइट या मोबाइल एप्लीकेशन पर सेव कर सकते है । अब से भारत सरकार ने सॉफ्ट कॉपी को भी उतनी मान्यता दे ही है जितनी एक हार्ड कॉपी को मिलती है।

क्या डीजीलोकर सुरक्षित है ?

डीजीलोकर उतना ही सुरक्षित है जितना की बैंक अकाउंट या नेट बैंकिंग।  डीजीलोकर मे एक यूजर आईडी और पासवर्ड बनाना होता है और उसे हमें अपने आधार कार्ड से लिंक करना होता है। इसके साथ मोबाइल नंबर भी रजिस्टर करना होता है और डीजीलोकर मे अकाउंट बन जाता है।

जब भी डीजीलोकर से कोई डोक्यूमेंट यूज करना हो तो यूजर आई डी  एवं पासवर्ड से लॉगिन करना होगा। फिर रजिस्टर्ड मोबाइल नम्बर पर एक ओटीपी आयेगा,जिसे लॉगिन करने के बाद डालना होगा। तभी  इनका यूज कर सकेंगे । इस तरह से डीजीलोकर बिल्कुल हमारे बैंक अकाउंट की तरह ही सुरक्षित है।

डीजीलोकर पर अकाउंट कैसे बनाये ?

डिजिटल लॉकर का यूज  वेबसाइट पर या एप्लीकेशन डाउनलोड करके कर सकते है।

डीजीलोकर पर रजिस्टर करने पर आपका एक अकाउंट बन जाता है और  इसमे कुछ स्पेस मिलता है। जहाँ डॉक्यूमेंट को अलग अलग फाइल में रख सकते है। डीजीलोकर को यूज करने के लिए निम्न प्रोसेस है –

  • डिजिटल लॉकर का यूज  वेबसाइट पर या एप्लीकेशन डाउनलोड करके कर सकते है।
  • वेबसाइट पर साइन अप बटन पर क्लिक करना होगा। जिसके बाद एक नया पेज ओपन होगा।
  • अगले पेज पर आधार कार्ड नंबर डालना होगा। और इसके बाद कंटिन्यू पर क्लिक कर करना होगा।
  • जैसे ही कंटिन्यू क्लिक करेंगे तो रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक वन टाइम पासवर्ड आएगा। जो आधार कार्ड से जुड़ा होगा।
  • इसके बाद कुछ पर्सनल इन्फोर्मेशन जैसे – नाम, जन्मतिथि, जेंडर और ईमेल आईडी भरना होगा। जिसके बाद सबमिट पर क्लिक करे। इसके बाद डिजी लॉकर अकाउंट में लॉगिन करने के लिए एक सिक्योरिटी पिन का भी सेट अप करना होगा। और सबमिट बटन पर क्लिक करके सबमिट कर सकते हैं।
  • इस अकाउंट का यूज डिजिलॉकर मोबाइल अथवा वेबसाइट के माध्यम से कर सकते हैं। और डॉक्यूमेंट अपलोड एवं डाउनलोड भी कर सकते हैं।

अपने डॉक्यूमेंट को डीजीलोकर में सेव करने के लिए आपको अपने सभी डाक्यूमेंट्स को स्कैन करना होगा।आप चाहे तो अपने डाक्यूमेंट्स के लिये अलग अलग फोल्डर बना कर उसमे डोक्यूमेंट अपलोड कर सकते है ।

डीजीलोकरके फायदे क्या है?

1. डीजीलोकर में कभी भी डॉक्यूमेंट ख़राब नहीं होते।

2. डिजिटल लोकर मे सेव किए गए डॉक्यूमेंट कभी नही खो सकते

3. डिजिटल लोकरमें सेव डाक्यूमेंट्स आप दुनिया के किसी भी कोने से यूज कर सकते है। इसके लिये सिर्फ इन्टरनेट होना चाहिए।

4. कभी कभी गाडी के डोक्यूमेंट्स, ड्राइविंग लाइसेंस हार्ड कॉपी में उपलब्ध नही होते तो ऐसे में डिजीलाकर आपके लिए बहुत फायदेमंद हो सकता है।

5. अब डिजिटल लाकर सभी सरकारी और गैर सरकारी संस्थाओ में मान्य है।

6. अब किसी सरकारी ऑफिस में डॉक्यूमेंट की फोटोकॉपी देने की जरूरत नही है सिर्फ अपने डॉक्यूमेंट की सॉफ्ट कॉपी ईमेल कर सकते हैं ।

Begin typing your search above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top