आग से सुरक्षा कैसे करें ?

1241 0

थोड़ी सी असावधानी दुर्घटना का कारण हो सकता है । आज कई सुविधाए है जिनसे हमारे दैनिक जीवन के काम आसानी से हो जाते है लेकिन जहां इनके प्रयोग करने से फायदा वहीँ दुष्परिणाम भी होते हैं | रसोई मे खाना बनाने के लिए गैस प्रयोग किया जाता हैं और  इलेक्ट्रोनिक इक्यूपमेंट के लिए इलेक्ट्रिसिटी यूज की जाती हैं, ये काफी सुविधाए प्रदान करती हैं लेकिन ज़रा सी असावधानी से आग लगने का खतरा होता हैं ।

आग लागने के कारण

इन कारणो से आग लग सकती हैं –

1. जलती हुई माचिस की तीलियों या मोमबत्ती के प्रयोग से आग लग सकती हैं । इन्हे बिना बुजाए ही सुखी घास या कचरे के ढेर मे फेंक देने पर आग लग सकती हैं ।

2. पटाके चलाते समय असावधानी आग लागने का प्रमुख कारण होता हैं।

3. इलेक्ट्रिक फाल्ट से भी आग लग सकती हैं ।

4. खाना पकाते समय गैस लीक होने से भी आग लग सकती हैं ।

आग से सुरक्षा के नियम  

1. जब आग से निपटते हैं तो पूरी सावधानी रखनी चाहिए । बच्चों को आग से दूर रहना चाहिए ।

2. पटाके चलते समय विशेष ध्यान रखना चाहिए । पटाके हमेशा बड़ो की निगरानी मे चलाने चाहिए ।

3. बच्चों को माचिस या मोमबत्ती से नहीं खेलना चाहिए ।

4. इलेक्ट्रिक एप्लाइन्स ओर वायर रेगुलर चेक करते रहना चाहिए और  उन्हे हमेशा दूरस्थ रखें ।

5. जब खाना पकाते हैं तो उस समय नयलोन या सिंथेटिक कपड़े नहीं पहनने चाहिए ।

6. यदि गैस लीक हो रही हो तो सभी खिड़की दरवाजे तुरंत खोल दे , लाइट या माचिस ना जलाए ।

आग बुझाने के तरीके

1. आग जल्दी से फैलती हैं । इसे फैलने ले लिए हवा की आवश्यकता होती हैं अतः आग लागने पर हवा की सप्लाई को रोक दे । ये आग पर रेत डालने से हो सकता हैं ।

2. अगर आग कम हो तो फायर एकस्टिंगईशर द्वारा कंट्रोल हो जाती है लेकिन यदि आग ज्यादा लगी हो तो नजदीकी फायर स्टेशन को तुरंत सूचना देनी चाहिए ।

3. अगर कपड़े आग पकड़ ले तो इधर उधर नहीं दौड़ना चाहिए कंबल से खुद को लपेट ले या पानी का भी प्रयोग कर सकते हैं ।

फ़र्स्ट एड का प्रयोग

जब कोई व्यक्ति घायल हो जाता हैं और डॉक्टर उस समय मौजूद नहीं हो तो उसे तुरंत प्राथमिक चिकित्सा देना अनिवार्य होता है ।

जलने पर प्राथमिक चिकित्सा

1. यदि हल्के से जले हैं तो ठंडे पानी मे या आइस क्यूब का तुरंत प्रयोग करे और इसके बाद एंटीसेप्टिक क्रीम का प्रयोग करे ।

2. अगर जलने से फफोला हो गया हो तो उसे फोड़े नहीं उसे सॉफ्ट कॉटन के कपड़े से ढक दे

3. जलन से बचाव के लिए पानी मे बेकिंग सोडे का प्रयोग करें ।

4. अगर शरीर का ज्यादा हिस्सा जल गया हो तो नजदीकी हॉस्पिटल मे तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें ।

Begin typing your search above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top