टेंशन को कम कैसे करें?

744 0

आज सभी वर्गों के लोग सफलता प्राप्त करने के लिए दौड़ रहे हैं चाहे वे छात्र, व्यवसायी, व्यवसायी या माता-पिता हों लेकिन  क्या आप जानते है हमेशा लोगों को देरी या परिणाम के कारण तनाव होता है। हर व्यक्ति के जीवन में किसी न किसी विषय को लेकर तनाव होता है।

सभी प्रकार की सुविधाओं के बावजूद, लोगों को अधिक प्राप्त करने की इच्छा के परिणामस्वरूप वे विभिन्न मानसिक बीमारियों से पीड़ित होते हैं। तनाव बढ़ने की स्थिति में, वे गलत कदम उठाते हैं और कई लोग अपराध को और अधिक बढ़ा देते हैं।

तनाव के प्रमुख लक्षण :
1.नींद की कमी-
जब किसी व्यक्ति को तनाव होता है, तो उसके मन में विभिन्न प्रकार के विचार उठते हैं जिसके कारण वह शांति से सो नहीं पाता है, कभी-कभी वह खुद भी सो जाता है लेकिन उसका मन जागता रहता है और वह तनाव भी लेता है। नींद न आना तनाव का एक प्रमुख लक्षण है।
2.पाचन प्रक्रिया-
तनाव के कारण व्यक्ति की पाचन प्रक्रिया भी प्रभावित होती है, वह खाने में रुचि नहीं दिखाता है। यदि व्यक्ति भूख लगने के बावजूद खाना न खाएं तो शरीर कमजोर हो जाता है।
 3.ब्लड प्रेशर-
स्वास्थ्य में परिवर्तन के कारण चक्कर आना, घबराहट, बेचैनी, पसीना, आदि के अचानक लक्षण दिखते हैं जो उच्च रक्तचाप के लक्षण हैं।
4.वजन कम होना-
अचानक वजन कम होना और शारीरिक रूप से कमजोर हो जाना
5.दिल की धड़कन का बढ़ना-
अचानक व्यक्ति का कम्पन बढ़ जाता है और थकान का अनुभव होता है जिससे दिल का दौरा पड़ने की संभावना बढ़ जाती है।
6.अलग रहना-
तनाव ग्रस्त  व्यक्ति खुद को लोगों से दूर करना शुरू कर देता है और अकेला महसूस करता है | हर समय अलग-अलग तरह के नकारात्मक विचार आते रहते हैं, जिसके कारण वह अवसाद (डिप्रेशन) का शिकार हो जाता है।

टेंशन के कारण
इंसान सामाजिक प्राणी है। सामाजिक परिवेश में किसी भी स्थिति में, व्यक्ति को नौकरी की कमी, पैसे की कमी, परीक्षा में असफलता, काम करने के लिए समय की कमी, बीमारी, बच्चों की चिंता आदि जैसे तनाव हो सकते हैं।

तनाव दूर करने के तरीके
1. लाइफ स्टाइल – सबसे पहले जीवन जीने के तरीके में बदलाव करना आवश्यक है। अच्छी डाइट, सकारात्मक सोच, सामाजिक और आध्यात्मिकता को अपने जीवन में शामिल करें।
2. समय प्रबंधन – समय का सही उपयोग करें। आपको मौके का पूरा फायदा उठाना चाहिए, अगर किसी कार्य को पूरा करने में कोई समस्या है, तो आपको समय का प्रबंधन करके काम पूरा करना चाहिए।
3. सकारात्मक सोच-
किसी भी मामले में, व्यक्ति को हमेशा सकारात्मक सोच रखनी चाहिए ताकि बेहतर परिणाम प्राप्त किए जा सकें। परेशानी के समय में चिंता न करना आवश्यक है, यदि समय पर सोच समझकर काम किया जाए तो हर समस्या का समाधान संभव है।
4. स्वयं के लिए समय:
आपको अपने व्यस्त दिनचर्या से कुछ समय सिर्फ अपने लिए समर्पित करना चाहिए जिसमें आप अपनी रुचि के अनुसार कोई भी गतिविधि कर सके ।
5. सामाजिक व्यक्ति बनना-
तनावग्रस्त होने पर व्यक्ति को अकेलापन बेहतर महसूस होता है और वह अकेला रहना पसंद करता है| तनाव मुक्त रहने के लिए समाज, दोस्तों, रिश्तेदारों, परिवार के सदस्यों आदि के साथ समय बिताना चाहिए।
 6. जल्दी जागना-
रात को जल्दी सोने और रात में जल्दी जागने की आदत बनाये क्योंकि जल्दी उठने से सकारात्मक विचारों में वृद्धि होती है।
7. व्यायाम, योग और ध्यान-
सुबह जल्दी उठने के बाद व्यक्ति को कुछ व्यायाम, योग और ध्यान करना चाहिए, जिससे एकाग्रता बढ़ती है और दिमाग शांत बना रहता है |साथ ही नए विचारों के साथ सकारात्मक ऊर्जा का विकास होता है।
8. नशा से दूर रहें-
अगर मानसिक तनाव है, तो व्यक्ति अक्सर नशे का आदी हो जाता है जो कई प्रकार की बीमारियों का कारण है, इसलिए इस स्थिति में व्यक्ति को हमेशा नशा से दूर रहना चाहिए।
9. मना करना सीखें-
हर कार्य में लोगों की ख़ुशी के लिए हां ना करें | यदि आपको लगता है कि आप किसी काम को करने में समर्थ नहीं है तो खुल के सामने वाले व्यक्ति को मना कर दें
10. खुश रहें – आपको हर स्थिति में खुश रहना चाहिए क्योंकि हंसमुख दिमाग से किया गया कोई भी काम हमेशा सफलता देता है, इसके विपरीत, तनावग्रस्त दिमाग से आपके द्वारा किया गया कोई भी काम सही नहीं होता है।
11.मेडिटेशन- मेडिटेशन तनाव को दूर करने का एक प्रभावी तरीका है| इसके लिए कई संगठन हैं जो मैडिटेशन और योग करवाते हैं |

तनाव दूर करने के घरेलू उपाय
 1. तुलसी के पत्ते – तुलसी के पत्तों की चाय पीये।
2. अश्वगंधा की जड़ – यह एक आयुर्वेदिक औषधि है जिसका उपयोग किया जा सकता है।
3. लैवेंडर का तेल- इससे बालों की जड़ों में खोपड़ी पर   मालिश करनी चाहिए।
4. ग्रीन टी:इसके उपयोग से ऊर्जा प्राप्त होती है।
5. ब्राह्मी-इसके प्रयोग से मस्तिष्क ठंडा हो जाता है।

Begin typing your search above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top