नशा कैसे छोड़े ?

714 0

यदि आप खुद या आपके कोई प्रिय परिवार के सदस्य या मित्र नशे के आदि है तो उनकी इस समस्या के निदान के लिए आप बिलकुल सही जगह पर है | नशा करना पुराने समय से ही प्रचलन मे हैं । प्राकृतिक प्रकोप से बचने के लिए लोगों ने खाने-पीने की नशीली चीजों की खोज की थी । इनके द्वारा तेज गर्मी , सर्दी , बेक्टेरिया और बीमारियों से बचा जाता था लेकिन आज इसका दुरुपयोग हो रहा हैं । अति हर चीज की नुकसानदायक है, कई वस्तुएँ  जैसे – शराब , सिगरेट ,अफीम , गाँजा , भांग , तम्बाकू , ड्रग्स ,कोकीन , चाय कॉफी नशीले पदार्थ हैं ।

नशा करने के कारण

  • नशा करने के कोई कारण नहीं होते हैं । ये सिर्फ दिमागी असंतुलन के कारण होता हैं । जब केमिकली इनबेलेंस होता हैं तो नशे की तीव्र इच्छा जाग्रत हो जाती हैं । फिर इंसान नशा करने का सिर्फ बहाना ढूँढता है |
  • यदि परिवार में कोई भी एक सदस्य नशा करता है, तो इसका प्रभाव परिवार के दूसरे सदस्यों पर पड़ता है, खासकर बच्चों में भी नशे की लत की आशंका होती है।
  • यदि पैरंट्स को लत है, तो बच्चों में ऐसे जीन्स होते हैं, जो उन्हें भी उस नशे की तरफ आकर्षित करते हैं।
  • एक्सपेरिमेंट और सेक्स की इच्छा बढ़ाने की कोशिश में भी लोग नशे की तरफ जाते हैं।
  • घर में किसी प्रकार की कलह होती है, तो लोगों के किसी नशे का सहारा लेने की आदत पड़ सकती है।
  • खास मौके, जैसे कि फैमिली फंक्शन, फेस्टिवल, कोई खुशी का मौका आदि में कभी-कभी शराब लेने की बात करने वाले लोग धीरे-धीरे नशे के करीब आ सकते हैं।

 क्या हैं नशा करने के नुकसान

  • घबराहट, बेचैनी, चिड़चिड़ापन
  • गुस्सा आना, मूड अचानक बदलना
  • तनाव और मानसिक थकावट
  • फैसला लेने में दिक्कत
  • याददाश्त कमजोर पड़ना
  • चीजों को लेकर कन्फ्यूजन होना
  • नींद न आना
  • सिर में तेज दर्द होना
  • शरीर में ऐंठन और मरोड़ होना
  • भूख कम लगना
  • धड़कन का बढ़ना
  • ज्यादा पसीना आना
  • बिना बीमारी के उल्टी-दस्त होना

नशा कैसे छुड़ाये  

  • मन में ठानें-

जब तक आप खुद नहीं चाहेंगे, कोई और आपका नशा नहीं छुड़ा पाएगा। सबसे पहले मन में ठान लें कि आप नशा छोड़ना चाहते हैं। शुरू में अपनी बात पर टिए रहने में दिक्कत आएगी, लेकिन अपने मन को मजबूत रखें। लत छोड़ने की वजहों को दिन में बार-बार मन में दोहराएं। हो सके तो ऐसी जगह पर लिखकर लगा दें, जहां आपकी बार-बार नजर पड़ती हो।

  • थोड़ी दूरी बनाना शुरू करें-

कोई भी नशा छोड़ने के लिए पहले उसकी मात्रा कम करें। मसलन शराब का पैग छोटा कर दें या सिगरेट पीने से पहले उसे तोड़कर छोटी कर दें। अपने पास लाइटर, माचिस, गुटखे की पुड़िया, तंबाकू रखना छोड़ दें। डायरी बनाएं और उसमें लिखें कि नशा कब और कितनी मात्रा में, किसके साथ लेते हैं। उसे बार-बार पढ़ें। अगर किसी खास मौके या किसी खास शख्स के साथ आप ज्यादा नशा करते हैं तो उसे नजरअंदाज करें। शराब, सिगरेट या खैनी का पुराना स्टॉक फेंक दें।

  • परिवार के सदस्यों और मित्रों की मदद लें- 

अपने परिवार का फोटो सामने रखें और उस पर बार-बार निगाह डालकर देखें कि आप परिवार के लिए और परिवार आपके लिए कितनी अहमियत रखता है। दोस्तों की मदद लें अपने सभी दोस्तों और परिजनों से कह दें कि आपने शराब, सिगरेट या गुटखा छोड़ दिया है। इनके सेवन के लिए आपको मजबूर न करें। अकेले न रहें। फैमिली, खासकर छोटे बच्चों हों तो उनके साथ वक्त बिताएं।

  • अचूक उपाय-

एक ऐसा उपाय है जिससे आपकी बीडी और तंबाकू दोनों ही आसानी से छुट जाएगी, कोई भी इंसान यदि नशा करता है तो उनके शरीर में सल्फर का प्रमाण कम होने लगता है, सल्फर का प्रमाण कम होने की वजह से व्यक्ति बार-बार नशा करता रहता है | सबसे पहले तो आपको अदरक के छोटे-छोटे टुकड़े कर के उसमे नींबू का रस मिलाना है साथ में नमक भी मिलाएं, इतना करने के बाद आपको इसे करीब 12 घंटे तक धुप में सुखा कर रखना है, जब आपको ऐसा लगे की अदरक के दाने एकदम सुख गये है तो इन्हें आपको अपनी जेब में रख देना है | अब जब भी आपको नशा या तंबाकू की इच्छा हो तो आप इस अदरक के दाने को अपने मुह में रख ले. ऐसा करने से आपकी नशे की आदत धीरे-धीरे छुट जाएगी. यह तरीके को आप महीने तक आजमाके देखिये बेशक ही आप नशे से आजाद हो जायेंगे |

Begin typing your search above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top