रिज्यूम क्या होता है? कैसे बनाए ?

495 0

रिज्यूम एक ऐसा डॉक्यूमेंट होता हैं जिसके द्वारा एजुकेशनल , पर्सनल बेकग्राउंड ,रुची , अचिव्मेंट्स दर्शाने के लिए बनाया जाता हैं । अधिकांशतः इसका यूज जॉब इंटरव्यू के लिए किया जाता है । रिजूम ही रिक्र्युटर के सामने फर्स्ट इम्प्रेशन होता है । “फर्स्ट इंप्रेशन इज द लास्ट इंप्रेशन” होता हैं  इसलिए एक प्रभावशाली और गुड लुकिंग रिजूम हमे दूसरे केंडीडेट से अलग शॉ करता हैं । आज अधिकतर केंडीडेट किसी साइबर केफे या अन्य लोगो से रिज्यूम बनवाते हैं । स्वयं रिज्यूम नहीं बनाते जिसके चलते किसी प्रकार की गलती होने के चांस होते हैं और जिनसे हम अवगत नहीं होते । कई ऐसी इन्फोर्मेशन जो हमारे से संबन्धित नहीं भी है वो भी गलती से डाल दी जाती हैं जिनका इंटरव्यू मे गलत प्रभाव पड़ता हैं । अतः रिज्यूम के बारे मे विस्तृत जानकारी होना जरूरी हैं –

रिज्यूम के विभिन्न प्रकार

1. क्रोनोलोजिकल रिज्यूम

इस प्रकार के रिज्यूम पहले से कार्यरत कर्मचारियों द्वारा बनाये जाते   है । इसमें अपनी पिछली सभी जॉब्स और उसके अनुभव के विषय में चरणबद्ध तरीके से समझाया हुआ होता है |

2. फंक्शनल रिजूम

स्किल बेस्ड रिज्यूम होता है जिसमे प्रोफेशनल अचिव्मेंट्स स्किल को  पोस्ट के अनुसार मैन्शन करते है । इस प्रकार के  रिज्यूम नई इंडस्ट्री में जाने वाले जॉब सीकर सबसे अधिक यूज करते है ।

3. कोंबिनेशन रिज्यूम

यह क्रोनोलॉजिकल रिज्यूम एवं फंक्शनल रिज्यूम कॉम्बिनेशन होता    है । यदि  फ्रेशर केंडीडेट है, वर्क एक्सपीरियंस कम है या ग्रेजुएशन अभी ही कंप्लीट हुई हैं तो ये रिज्यूम उचित होगा ।

रिजूम के प्रमुख भाग – Parts of a Resume

1. रिज्यूम हेडर

रीजूम का सबसे ऊपरी भाग रिजूम हैडर होता है ।  जिसमें कैंडीडेट का नाम, फोटो तथा संपर्क आदि जानकारी होती है । राइट साइड मे पासपोर्ट फोटो होता है ।  

2. कोंटेक्ट डिटेल  

पूरा नाम , मोबाइल नंबर ,पता , ईमेल एड्रेस

3.  केरियर ओब्जेक्टिव

यह लगभग 50 शब्दों का होता हैं जिसमे आप इस जॉब को क्यों करना चाहते है और आप किस प्रकार कंपनी/ संस्था के लिए फायदेमंद साबित हो सकते है ।

4. एज्यूकेशनल क्वालिफ़िकेशन

रिजूम में शैक्षिक उपलब्धियों पर सबसे ज्यादा जोर दिया जाता है । इसमे -संस्था का नाम , डिग़्री का नाम , उतीर्ण वर्ष  का डिटेल मैन्शन होता हैं ।

5. स्किल

यदि स्कुल/कॉलेज के अलावा एडिशनल ट्रेनिंग प्राप्त की है तो उसके लिए आप अलग सेक्शन बनाकर लिख सकते है । एवं प्रोफेशनल स्किल्स को अलग से लिखे।

6. वर्क एक्सपीरियंस

कंपनी का नाम , पोस्ट ,लोकेशन , समय

7. हॉबी

जो होबी है जैसे- गाना पसंद है, क्रिकेट खेलना ।

8 फुटर एरिया

इसमे दिनांक, समय, हस्ताक्षर तथा घोषणा/शपथ आदि अतिरिक्त जानकारी जोड़ दिए जाते है.

ध्यान दें: रिजूम में अपनी निजी जानकारी जैसे जन्म तिथी, लिंग, वैवाहिक स्थिति, उम्र, शारीरिक बनावट, रंग-रूप आदि भूलकर भी ना लिखें.

Begin typing your search above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top