छुपे हुए कैमरे का 5 मिनट में पता कैसे लगाएं ?

3994 0

आजकल चेंजिंग रूम, होटल और यहां तक की बाथरुम तक में कैमरा छिपा होने की वारदातें आम हो गई है। ऐसे में अगर आप भी कहीं बाहर घूमने का प्लान बना रहे हैं तो ठहरने के लिए जिस होटल को बुक कर रहे हैं, उसके कमरे पर एक बार अच्छी तरह नजर दौड़ा लें,कहीं कोई हिडन कैमरा आपकी प्राइवेसी के साथ खिलवाड़ न कर रहा हो। वैसे रूम में कैमरा इतने सफाई से छिपाएं जाते हैं कि एक आम आदमी के लिए इनका पता लगाना थोड़ा मुश्किल हो जाता है, लेकिन डोंट वरी आपकी इस मुश्किल को आज हम आसान बना रहें हैं। कुछ सिंपल टिप्स बताते हैं जिनकी मदद से आप पता लगा सकेंगे कि कमरे में कोई कैमरा छिपा है या नहीं:

1- कमरे की लाइट्स ऑफ करके भी आप हिडन कैमरे का पता लगा सकते है। जिसके लिए सबसे पहले आप पूरे रुम की लाइट बंद कर ले फिर देखिए की कहीं कोई रेड या ग्रीन लाइट  तो नहीं नजर आ रही । अगर ऐसा दिखें तो  इसका मतलब आपके कमरे में सौ प्रतिशत हिडन कैमरा लगा हुआ है।

2.दरवाजे के हैंडल या हुक में हो सकता है कैमरा- ट्रायल रूम में इस बात का ध्यान रखें कि कहीं रूम के दरवाजे के हुक या हैंडल में कोई कैमरा तो नहीं छुपा।

3. कुछ कैमरा मोशन सेंसिटिव होते है जो एक्टिविटी होने पर ही अपने आप चालु हो जाते है। जिसकी आवाज सुनकर  आप हिडन कैमर को आसानी से पकड़ सकते है।

4.सचेत रहें: लोग अक्सर शॉपिंग के समय ट्रायल रूम या चेंजिंग रूम का प्रयोग करते हैं लेकिन यहां पर भी कोई कैमरा छिपा हो सकता है इसलिए जब भी रूम में जाएं तो सबसे पहले सामने लगे शीशे और ऊपर की ओर दिए गए कोनों को ठीक से चेक कर लें। सतर्क रहना बेहतर होता है।

5.शीशे के पीछे हो सकता है कैमरा- रुम या ट्रायल रूम के शीशे में कोई कैमरा छिपा तो नहीं इसका पता लगाने के लिए सबसे पहले शीशे में एक ऊंगली रखें। अगर शीशे में रखी ऊंगली और शीशे में दिख रही उंगली के बीच में अंतर या गैप रहता है तो समझ लें कि शीशा ओरिजनल है और अगर आपकी ऊंगली जुड़ी रहती है तो यानि शीशे के पीछे आपका सबकुछ दिख रहा है और संभवत: वहां कैमरा है जोकि सब रिकॉर्ड कर रहा है।

6.हिडन कैम डिटेक्टर का इस्तेमाल करें- हिडन कैम डिटेक्टर बहुत उपयोगी है क्योंकि ये डिटेक्टर कहीं भी छिपे हुए कैमरा को खोज लेते हैं। इस प्रकार की कई एप्लिकेशन आपको प्ले स्टोर पर मिल जाएगी |

7.स्मार्टफोन से भी कर सकते है पता- आपका स्मार्टफोन भी हिडन कैमरा का पता लगाने में हेल्प कर सकता है। इसमें बॉडीगार्ड नामक एप को डाउनलोड करें और जैसे ही इसे ऑन करके आप अपने स्मार्टफोन को रूम में घुमाएंगे तो रेड कलर का निशान ब्लिंक दिखने लगें तो समझ लें कि रूम में कैमरा छिपा है।

8.मोबाइल कैमरा का नेटवर्क गायब हो जाए- अगर ट्रायल रूम या कमरे में जाकर आपके मोबाइल कैमरा का नेटवर्क चला जाए या कॉल न लगे तो समझ लें कि वहां कैमरा छिपा है।

9.रूम के दरवाजे पर ध्यान दें- अगर कमरे के दरवाजे में नीचे की ओर थोड़ा स्पेस है तो ध्यान रखें कि कहीं कोई नीचे से आपकी फोटो तो नहीं खींच रहा या फिर वीडियो रिकॉर्डिंग तो नहीं बनाई जा रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Begin typing your search above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top